Blog post settings kaise kare - full step by step - Web India Crown - Hindi blog

Blog post settings kaise kare - full step by step

Share This
How to Change Post Settings?

हम पीछले Post से ये जाना था की Blogger पर ब्लॉग Post कैसे लिखते है आज ये पोस्ट में जानेगे की पोस्ट लिखने के बाद Publish, Schedule Time, Labels, Permalink and Search Description कैसे लिखे या Change करे।


आप अपना Blog Surfing Visitor के पास पहुचाना अभिलाषा रखते है तो ये "Post Setting" में कुछ बदलने और लिखने की आवश्यकता है चलिए Discuss करते है, पोस्ट के अंत में आप समझेंगे की "Post Setting" क्यूं जरुरी है.

Post Settings 

पहले आप निचे ScreenShot में देखे की किस तरह की बदलाव और लिखा गया.

Look, Post Settings

1. Labels: लेबल को ब्लॉग श्रेणियों के रूप में जाना जाता है.

उदाहरण: सेवाओं के लिए, हमारे बारे में, हमसे संपर्क करें वे पृष्ठ हैं जिन्हें आप अपने मेनू टैब में जोड़ते हैं। तो उपयोगकर्ताओं को आपके ब्लॉग के बारे में पता है कि आप इस सेवा की सेवा कैसे करते हैं। लेबल कई संबंधित ब्लॉग पोस्ट दिखाते है जो संबंधित पृष्ठ हैं।

दूसरा उदाहरण, मान लें कि आप एक खाना पकाने वाले ब्लॉग चलाते हैं और आप "पिज्जा बनाने के तरीके" के बारे में पोस्ट कर रहे हैं और आप इसे तीन लेबल जैसे कि खाना पकाने, ओवन और पिज्जा के साथ Sorting रहे हैं। 

अब आप "French fries" बनाने के बारे में एक और विषय पोस्ट कर रहे हैं और आप इसे Frying pan, French fries और खाना पकाने के साथ sorting कर कर सकते हैं।

यह प्रश्न वास्तव में आपके ब्लॉग विषयों पर निर्भर करता है हमारे पास वर्डप्रेस में दो विकल्प हैं, जहां हम मुख्य विषयों के रूप में श्रेणियां और सूक्ष्म विषयों के रूप में टैग का उपयोग कर सकते हैं।

ब्लॉगर में आपके पास केवल एक ही विकल्प है, जो लेबल है। आप अपनी साइट के लिए जितने लेबले चाहते हैं, उतने ही बना सकते सकते हैं.

लेकिन आपकी सामग्री को तीन से अधिक लेबल के साथ Sorting नहीं करें और प्रति लेबल तीन शब्द से अधिक न हो। इसमें कोई भी पोस्ट नहीं है, जिसमें कोई लेबल नहीं है।

बेहतर नेविगेशन और उपयोगकर्ता अनुभव के लिए आप अपने लेबल दोनों मेनू टैब और साइडबार में दिखा सकते है की इस लेबल के बारे में पोस्ट हैं।

2. Schedule: ये विकल्प आपके ब्लॉग को प्रकाशित करते समय सहायता करते हैं प्रकाशित समय पिछली बार लिया गया है जैसे आज की तारीख और समय 12-29-2017, 2:00 अपराह्न है मैं कल में दिनांक और समय को प्रकाशित करना चाहता हूं, जैसे 11-29-2017, 8:00 पूर्वाह्न आप ऐसा कर सकते हैं।

3. Permalink: Permalink एक ब्लॉग पोस्ट URL है। ब्लॉगर सेटअप में ब्लॉगर SEO के लिए Permalink सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। इसे प्रकाशित करने से पहले, यह पोस्ट प्रत्येक पोस्ट के लिए सेट किया जाना चाहिए।

Permalink Title के साथ निकटता से संबंधित है और Permalink Title के साथ काम करता है। जब एक Title लिखा जाता है, तो Permalink जनरेटर Automatics Title के समान रूप में बन जाता है। 

पर्मालिंक दो विकल्प हैं, Automatic and Custom.

Automatic options डिफ़ॉल्ट रूप से काम करते हैं Permalink जरूरी नहीं लिखना, लेकिन एक Custom option चुनते समय, यहां संपादन आवश्यक है।

For custom options, Permalinks ने सिर्फ बेहतर एसईओ प्रयोजनों के लिए 30 से 35 अक्षर लिखा जाता हैं, लंबे समय तक Permalink के साथ शब्द नहीं लिखते हैं, क्योंकि एसईओ पर बुरा प्रभाव हो सकता हैं।

जब आप इन प्रतीकों का उपयोग करना चाहते हैं, तो ब्लॉगर आपको नहीं जोड़ने की चेतावनी देता है, उसमें Permalink के साथ प्रतीक (/, -, =, (),!, ~ Etc).

आप SEO Friendly Permalink लिखना चाहते है तो निचे ध्यान दे।

उदाहरण:
Not SEO friendly permalink: Top-5-blogger-for-affiliate-networks-in-the-2018

Good SEO friendly permalink: Top-5-blogger-affiliate-networks-2018

जब आप ब्लॉग को प्रकाशित करने के बाद, नीचे ScreenShot में इस प्रकार की प्रकाशित की जाने वाली Permalink ब्लॉग पोस्ट में दिखेंगे।

प्रकाशित की जाने वाली Permalink ब्लॉग पोस्ट

Permalink link लिखते वक्त, ब्लॉग पोस्ट Title से संबंधित Permalink लिखने की आदत रखे SEO में अच्छे परिणाम देगा।

4. Location: आप चाहते हैं कि आप अपना स्थान (Map) जोड़ सकते हैं, ये Options यूज़ करने से Search Engine में Choose किया गया Location Name अपने ब्लॉग के साथ Show होंगे, यहां कुछ बदलाव करने की कोई आवश्यकता नहीं है, इस विकल्प का उपयोग बहुत ज्यादा नहीं किया जाता है।

5. Search Description: आपके ब्लॉग पर Search Description विकल्प Disable है तो Enable करना आवश्यक हैं। ब्लॉगर में एक नया ब्लॉग बनाने के बाद, इन विकल्पों पर होना जरूरी है। प्रत्येक पोस्ट के लिए Enable करने की कोई ज़रूरत नहीं हैं। हम Basic Setting में जाना था कैसे Enable किया जाता हैं।

अगर अपने ब्लॉग पर Search Description विकल्प Disable है तो में Recommended करता हूँ की निचे दी गई Link पर जा कर Search Description Enable करवा लीजिए।


Search Engine पर एक Blog Title and Search Description ये दोनों मिलकर काम करता है जब Visitor Blog खोजते है तब SE पर List Show होता है.

सबसे पहले, आपका प्रश्न, Search Description क्यों महत्वपूर्ण है? जब भी कोई व्यक्ति ब्लॉग या वेबसाइट पर Google पर संबंधित जानकारी खोजता है, तो Google उस सूची ब्लॉग या वेबसाइट को Google सूची Show पर पाया जाता है.

पहला Title, Permalink (ब्लॉग URL) और Description इस तरह Google खोज इंजन पर दिखेगा। ये तीन जरूरी हैं, ये तीन के बिना Search Engine पर ब्लॉग खोज ना असंभव है.

6. Options: विकल्प आपकी टिप्पणी में HTML का शाब्दिक और लाइन ब्रेक ऑन-ऑफ करने में मदद करते हैं। कोई सुधार करने की कोई जरूरत नहीं है बेशक, हम अग्रिम में देखेंगे.

अंतिम चरण

क्या आप खोज Visitor तक अपना ब्लॉग भेजने के बारे में सोच रहे हैं? या Search Engine में Show करवाना चाहते हैं तो जाने अंतिम चरण.

यदि आप इस ब्लॉग को ड्राफ्ट के रूप में सहेजना चाहते हैं, तो आप "Save" पर क्लिक कर सकते है Meaning- ब्लॉगर पर, ब्लॉग को ऑफ़लाइन (Daft) के रूप में सहेजा जाएगा.

दिखाने के लिए, ब्लॉग पोस्ट के लिए आगंतुक और खोज इंजन तक पहुंचने के लिए "Publish" बटन की आवश्यकता होती है.

प्रकाशित करने के बाद, जब आप प्रकाशित करें से ब्लॉग को उलट करना चाहते हैं, तो आप "Revert to Draft" बटन पर क्लिक कर सकते है.

Preview बटन, Experiment की तरह काम करता है और ब्लॉग को समाप्त करने के लिए "Close" बटन अनुमति देता है ताकि आप ब्लॉगर पर एक नई पोस्ट लिख सकें.

इसतरह, एक मुख्य ब्लॉग क़ो Post Settings एक Process है, अब आप आसानी से Manage कर सकते.

ये Articles अच्छा लगा तो आगे Share करना न भूले और कोई सवाल है तो निचे Comment Box में बताये ताकि हम अपने सवाल का जवाब दे सके.

ऐसे Articles पढने के लिए Subscribe करना न भूले क्योंकि WIC New Posts अपने ईमेल द्वारा  Inbox में मिल सके.

अगर आप Facebook और Google+ यूज़ कर रहे तो इस Pages के साथ जुड़े ताकि Facebook और Google+ में नई Posts Update मिल सके.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad