Free Blog बनाने के बाद, ब्लॉगर BlogSpot पर Blog पोस्ट कैसे लिखें - Web India Crown - Hindi blog

Free Blog बनाने के बाद, ब्लॉगर BlogSpot पर Blog पोस्ट कैसे लिखें

Share This
How to Write Blog on Blogger BlogSpot

कौन एक स्वतंत्र ब्लॉग लिखना चाहता है और साथ में पैसा कमाता चाहते है?

क्या आप, तैयार हो?

एक ब्लॉग क्या है? वे परिचित हो गए, लेकिन ब्लॉगर पर ब्लॉग कैसे लिखे जाते है आज हम इस बारे में Discuss करेगे.


Blogger पर एक ब्लॉग पोस्ट लिखना कोई बड़ी डरावनी चीज़ नहीं है, ब्लॉगर पर एक ब्लॉग लिखना MS Words की तरह आसान है चलिए ब्लॉग पोस्ट लिकना शुरू करते है.

How to write a blog post on Blogger Platform?

आपके ब्लॉग को बनाया गया है, कुछ ऐसी सेटिंग्स हैं जिन्हें आप अपने नवनिर्मित ब्लॉगस्पॉट ब्लॉग पर सेट करना चाहते हैं जिससे कि यह उपयोग करना आसान हो क्या आपने नहीं किया, तो नीचे लिंक पर click करे.


पहले विकल्प "Post" पर जाएं और "New Post" पर क्लिक करें।

Click on the New Post Button

New Post पर क्लिक करने के बाद, नीचे ScreenShot की तरह दिखने मिलेगा यहां आप लिख सकते है कि आप क्या लिखना चाहते है देखें कि मैंने लिखा, छवि, शीर्षक, विवरण, लेबल आदि ब्लॉग पर लेखन, लिखना आसान और उपकरण प्रबंधित करना.

Example For Post

ऊपर ScreenShot में देखा की मैंने कैसे content लिखा है इसतरह आप भी लिख सकते है.

यदि आपके पास MS ऑफिस ज्ञान है तो अच्छा है मुझे लगता है कि सभी के पास एक सामान्य ज्ञान होगा कोई भी अपरिचित नहीं है, अब हम पोस्ट लिकने की लिए टूल्स की Discuss करेंगे.

Title: पहले Blog Title की बात की जाये क्यूकी Blog Name होना जरुरी है, जब आप ब्लॉग Title लिखते वक्त 45 शब्दों या Maximum 60 characters में लिखे. Google में rank कराने के लिए और visitor आसानी समझ सके इसतरह हमें optimize करने की आवश्कयता है.

ब्लॉग Title लिखते वक्त 45 शब्दों या Maximum 60 शब्दों में लिखे

खोज इंजन में Blog Title छिपे (...) होने की संभावना बढ़ जाती है, Search Engine में नीचे दी ScreenShot की तरह दीखते है. जो Title 60 characters से अधिक होगा तो नीचे ScreenShot की तरह संभावना बढ़ जाती है.
Blog Title छिपे (...) होने की संभावना बढ़ जाती है

Blog Post Tools

अब हम ब्लॉग पोस्ट टूल्स के बारे में जानते हैं, इन टूल्स ने आपने अतीत में यूज़ किया होगा और यूज़ करना भी सरल है. ये tools हमने content लिखने में मदद करता है.

1. Undo And Redo: "Undo"पोस्ट लिख ते वक्त भूल से कुछ Wrong Words लिखा गया है उने हटाना के लिए काम करता है, जो हटाया गया Words को फिर से Present करने के लिए "Redo" यूज़ किया जाता हैं।

2. Front: यह विकल्प, आप अपनी पाठ शैली को बदल सकते हैं। जैसा कि हमारे पोस्ट "Arial" फ़ॉन्ट में प्रयोग किया जाता है?

3. Font size: ये विकल्प फ़ॉन्ट आकार को पांच अलग स्टाइलिश आकारों में बदल सकते हैं।

4. Format: ये SEO के लिए Better है, यह विकल्प H2 (Heading), H3 (Subheading), H4 (Minor Heading), H5 (Normal), आप इसका इस्तेमाल करना न भूले। 

5. Bolt, Italic and Underline: Strong (bolt) जोर के साथ Text प्रस्तुत करता है, जो आम तौर पर आसपास के पाठ से भारी होता है चयनित पाठ को Italic करें, जो आमतौर पर दाईं तरफ झुका हुआ प्रतीत होता है और "Underline" चयनित पाठ के तहत एक पंक्ति जोड़ता है।

6. Strikethrough: एक Strikethrough एक फ़ॉन्ट प्रभाव है जो टेक्स्ट को प्रकट होने का कारण बनता है, हालांकि यह पार कर गया है। उदाहरण: इस सबक के इस पाठ के मध्य में एक पंक्ति होना चाहिए।

7. Text colour and Text colour background: ये Text रंग बदल सकते हैं और दूसरा विकल्प, पृष्ठभूमि रंग (Highlight Text) Texts रंग के पीछे परिवर्तन हो सकता है.

8. Add and Remove Link: ये विकल्प किसी अन्य यूआरएल को इंगित करते हैं, जो एसईओ के लिए ज़रूरी है। यदि आप देखना चाहते हैं, तो इस पर - Blogger.com क्लिक करे और आप देखे क्लिक करें ब्लॉगर साइट पर जाएँगे।

9. Insert Image and Insert video: विभिन्न अपलोड Image सुविधाओं के 6 प्रकार हैं (Upload, from this blog, from google album archive, from your phone, from your webcam and from URL). इस पोस्ट में सभी Image देख रहे हे ये सभी Image इस Options द्वारा Upload किया जाता हैं।

10. Insert special character: ब्लॉगर आपको अपने पदों को अधिक आकर्षक बनाने के लिए कई विकल्प देता है इस विकल्प का उपयोग करके, आप अपने ब्लॉगर पोस्ट में कई स्टाइलिश को जोड़ सकते हैं। आपके द्वारा चुने हुए प्रतीकों और अक्षरों का प्रकार आपके द्वारा चुने गए फ़ॉन्ट पर निर्भर करता है।

उदाहरण: कुछ फोंट अंश (¼), अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक प्रतीकों (£, ¥) आदि में। कई श्रेणियां हैं जो आप अपनी इच्छा और मूल रूप से उपयोग कर सकते हैं।

11. Insert jump break: आप अपने ब्लॉग के होमपेज पर एक शो बना सकते हैं इससे पहले जंप ब्रेक एक सरल और अच्छी सुविधा है। आप अपने ब्लॉग पोस्ट में पैराग्राफ जोड़ सकते हैं या Text के लिए कूद सकते हैं।

12. Alignment: Text alignment एक वर्ड प्रोसेसिंग फीचर है जो उपयोगकर्ताओं को वाम, केंद्र, राइट-साइड संरेखण पोस्ट को पोस्ट देता है। पाठ के अलावा, छवि संरेखण भी हो सकती है।

13. Numbered list and bullet list: यह ऑप्शंस, जिसे ऑर्डर सूची, संख्या प्रारूप या संख्याओं की सूची के रूप में जाना जाता है, रैंकिंग एक सूची है जो चेकलिस्ट या चरणों के सेट के लिए उपयोग की जाती है दूसरा विकल्प, वैकल्पिक रूप से बुलेट बिंदु के रूप में जाना जाता है, बुलेट एक तारांकन चिह्न, एक काले डॉट, एक बोर्ड या अन्य चिह्न है जो मुख्य ऑब्जेक्ट या किसी अन्य महत्वपूर्ण सबक को पहचानने वाले पाठ से पहले मिलता है.

14. Quote: ये विकल्प नए विचारों, सुझाव आदि के लिए उपयोग किए जा सकते हैं उदाहरण:

एक महान ब्लॉग बनाने पर ध्यान न दें, अपने ब्लॉग के लिए एक ब्लॉग बनाने का ध्यान रखें।

15. Removing formatting: इस विकल्प में Removing formatting बटन है, जो कि किसी भी पाठ इरेज़र द्वारा दर्शाया गया है। आपने अपनी पोस्ट को स्वरूपित किया है और फिर से काम करने की जरूरत है, तो आप टेक्स्ट का चयन कर सकते हैं और टेक्स्ट के चुने हुए हिस्से से सभी स्वरूपण को हटाने के लिए इस बटन पर क्लिक कर सकते हैं।

उदाहरण: मैंने एक ब्लॉग, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस लिखा है जबकि इस पाठ को ब्लॉगर पोस्ट में कॉपी करते हुए इस पाठ में, प्रभाव-कॉपी पेस्ट ब्लॉगर जैसे पाठ का आकार, बोल्ट, अंडरलाइन, रंग, वे सभी प्रभावों के साथ आएंगे, यह सभी प्रभावों को हटाने के लिए "Removing formatting" बटन का उपयोग किया जाता है.

16. Check Spelling: यह विकल्प, इस पाठ की मदद से, आपकी पोस्ट में वर्तनी की गलती को हाइलाइट किया जाता है।

17. Transliterate Words Typed Phonetically In English Script: इस सहायता से, आप अपनी भाषा (19 भाषाओं) के अनुसार अंग्रेजी (कीबोर्ड) में टाइप करते हैं। 

18. Left to Right and Right to Left: यह विकल्प, सभी पाठ संरेखण सही या alignment पाठ, जिसे आप इसे लिखना चाहते हैं।

यह 18 Options पोस्ट लिखते वक्त मदद करते हैं, यह खत्म नहीं जो अपने सारे content लिख कर अपने visitor और search engine तक पहुंचना के लिए, सही विकल्प (Post Settings) पर समझा जाता है ये विकल्प ब्लॉग लिखने के बाद, Set up करना और लिखना आवश्यक है. ये Post Settings यूज़ कैसे करे ये जानने के लिए निचे Link पर Click करे.


अगर कोई सवाल है तो Comment Box में बताये और ये Articles आगे Share करना न भूले.



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad