Random Access Memory (RAM) in hindi पूरी जानकारी - Web India Crown - Hindi blog

Random Access Memory (RAM) in hindi पूरी जानकारी

Share This
Ram kya hai

जब आप नई Computer, Laptop या Mobile लेने जाते है तब हम shop पर sellman को हम जरूर पूछते है की कितना GB ram है. बाद में दूसरी features की बात करते है. यह विचार करना चाहिए ram कितना महत्वपूर्ण है.

हा, हम तो जरूर जानते है परतुं जो unfamiliar है उन लोगो को पता होना चाहिए की Random Access Memory (RAM) क्या है, RAM का पूरा नाम क्या है, कैसे काम करती और ram कितने प्रकार है. क्या आप ram के बारे जानने दिलचस्प है तो चलिये जानते है.

● NAS kay hai
CPU kya hai

Ram kya hai

ram का पूरा नाम है Random Access Memory, हम उने short नाम Ram से बुलाते है. ये ram कंप्यूटरों में इस्तेमाल होने वाले डेटा स्टोरेज का एक प्रकार है जो आम तौर पर मदरबोर्ड पर लगाया जा सकता है. इस प्रकार की मेमोरी Unsteady है और जब कंप्यूटर बंद हो जाता है तो रैम में संग्रहीत सभी डेटा खो जाता है.

जब आप अपने कंप्यूटर को फिर से चालू करते हैं, तो आपके कंप्यूटर के boot firmware (जिसे PC पर BIOS कहा जाता है) आपके ऑपरेटिंग सिस्टम और डिस्क से संबंधित फ़ाइलों को पढ़ने और उन्हें वापस रैम में लोड करने के लिए ROM chips में semi-permanently रूप से stored Instructions का उपयोग करता है.

Random Access Memory (RAM) को चिप Personal रूप से मदरबोर्ड पर या मदरबोर्ड से जुड़े एक छोटे बोर्ड पर कई चिप्स के सेट में लगाया जा सकता है. जब पुरानी ram प्रकार की बात करे तो dual in-line package (DIP) चिप्स के रूप में थे.

आज की technology के मुताबित DIP chips का उपयोग किया जाता है, लेकिन mostly memory module के रूप में होती है.

यदि आप अपने कंप्यूटर पर अधिक रैम जोड़ते हैं, तो आप अपने हार्ड डिस्क से डेटा को पढ़ने के लिए कितनी बार कम कर सकते हैं, यह आमतौर पर आपके कंप्यूटर को तेज़ी से काम करने की इजाजत देता है, क्योंकि Random Access Memory (RAM) हार्ड डिस्क से बहुत तेज़ है.


Random Access Memory (RAM) कितने प्रकार है

मैने एक articles में "ram कैसे choose करे desktop के लिए" के प्रकार छवि के साथ share किया था और आपको जरूर विजिट करना चाहिए.

आज modern computers में कई प्रकार की रैम का उपयोग किया जाता है, लेकिन 2002 से पहले most computers में single data rate (SDR) RAM का इस्तेमाल किया जाता था. तब से बनाए गए कई कंप्यूटर या तो double data rate (DDR), DDR2, DDR3, DDR4 RAM का उपयोग करते हैं.

जब DDR2 आपके सीपीयू के performance की सीमा को रोकने के लिए तेज़ transfer rate को प्राप्त करने में सक्षम है और DDR3 technology इस से भी advancements में जो हम आज तीन साल से यूज़ कर रहे है, last में DDR4 ये DDR3 से भी ज्यादा powerfull है ये भी latest technology है.


Ram कैसे काम करता है

Random access memory (RAM) कंप्यूटर मेमोरी का सबसे बड़ा roll है. जब आपका कंप्यूटर बूट हो जाता है, तो ऑपरेटिंग सिस्टम और ड्राइवर Memory में लोड होते हैं, जिससे central processing unit (CPU) बूट प्रक्रिया को तेज करने के लिए अनुमति देता है.

एक बार लोड होने के बाद, आपके द्वारा खोले जाने वाले सब प्रोग्राम को Memory में लोड किया जाता है. बहुत से प्रोग्राम खोलें, और कंप्यूटर RAM और हार्ड डिस्क ड्राइव के बीच मेमोरी में डेटा को swap करेगा, इसलिए आपके पास जितनी अधिक मेमोरी है, उतना तेज़ आपका कंप्यूटर काम करेगा.

तो आप ये याद रखे की जब नई computer या laptop खरीदना जा रहे है तो recommended करता हुं की 8GB RAM का चुनाव करे. सब काम आसान और smoothly काम करेंगा.

आज इस articles में ram के बारे में परिचित हो गए और मुझे उम्मीद है की आप अच्छे से समझ गए है. अगर आप computer या laptop नया खरीदने जा रहे है और ram से लेकर भ्रमित है, नीचे comment करे, हम जरूर सुझाव लाएंगे.

 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad