What is BIOS in computer? जानिए Hindi में पूरी जानकारी - Web India Crown - Hindi blog

What is BIOS in computer? जानिए Hindi में पूरी जानकारी

Share This
What is bios in computer? जानिए Hindi में पूरी जानकारी

क्या आप BIOS के बारे में जानते है ये अपने computer में मूल input output system के लिए software है और BIOS motherboard पर एक छोटी memory चिप पर ये software store होते है.

लेकिन BIOS बहुत कुछ करता है और किसी भी operating system के लिए उचित BIOS के बिना जारी रखना संभव नहीं है, आज, हम इस articles में देखेंगे कि BIOS कंप्यूटर में क्या है. क्या आप BIOS के बारे में जानने में रूचि रखते है तो नीचे से पढ़ना जारी रखे.

Computer में BIOS क्या है

BIOS का पूरा name Basic Input Output System और BIOS एक firmware है, यह computer motherboard के हिस्से पर चिप पर स्टोर होता है और मूल रूप से, operating system को load करने में मदद के लिए चलाए गए instructions का एक सेट होता है, यदि आप BIOS के लिए नहीं है तो आप OS load में असफल हो सकते है.

जब आप कंप्यूटर चालू करते हैं, तो BIOS instructions शुरू होती हैं, Ram और Processor के लिए अपने कंप्यूटर पर इन instructions को जांचें करते है. BIOS का उपयोग hard drive, floppy drive, optical drive, CPU, memory आदि जैसे computer में hardware को पहचानने और configure करने के लिए भी किया जाता है.

BIOS कैसे काम करता है

BIOS software में कई अलग-अलग roll होता है, लेकिन operating system को load करना इसकी सबसे महत्पूर्ण roll है. जब आप अपना कंप्यूटर चालू करते हैं और microprocessor अपना पहला instruction चलाने की कोशिश करता है, तो यह इसे कहीं से भी प्राप्त कर सकता है.

यह operating system से प्राप्त नहीं किया जा सकता है क्योंकि operating system hard disk पर स्थित है, और एक microprocessor इसे बिना दिए गए instructions के प्राप्त कर सकता है और BIOS उन instruction प्रदान करता है.

System में सभी hardware element के लिए Power-On self-test यह सुनिश्चित करना है कि सभी कार्य different install computer पर अन्य BIOS chip को active करने के लिए ठीक से काम करते है.

Operating system जो different hardware devices पर interface तक पहुंच प्रदान करता है, यह वह दिनचर्या है जो BIOS को अपना नाम देती है. वे कीबोर्ड, स्क्रीन और serial और parallel ports जैसी चीजें Operated करते हैं, खासकर जब कंप्यूटर बूट हो जाता है.

Hard disk, clock आदि के लिए settings का संग्रह manage करना BIOS एक बड़ा software है जो operating system के साथ आपके computer के major hardware घटकों को इंटरफेस करता है. यह Usually पर मदरबोर्ड पर फ्लैश मेमोरी चिप पर संग्रहीत होता है, लेकिन कभी-कभी चिप अन्य प्रकार के ROM का होता है.

जब आप computer को चालू करते है, तो BIOS कई चीजे करता है जैसे Custom settings के लिए CMOS Setup का जांच करता है, Interrupt handlers और Device को load करता है आदि पर काम करता है.

BIOS की पहली बात एक पूरक metal oxide semiconductor (CMOS) चिप पर स्थित रैम की एक छोटी (64 बाइट्स) मात्रा में संग्रहीत जानकारी की जांच करती है. CMOS Setup आम तौर पर आपके सिस्टम में बड़ी जानकारी प्रदान करता है और आपके सिस्टम में बदलाव के रूप में बदला जा सकता है.

BIOS इस जानकारी का उपयोग अपने default programming को Revise या पूरक करने के लिए करता है. Interrupt handles software के छोटे टुकड़े हैं जो हार्डवेयर घटकों और ऑपरेटिंग सिस्टम के बीच अनुवादकों के रूप में कार्य करते हैं.

में आपको एक उदाहरण से बताता हूँ, जब आप अपने keyboard पर एक कुंजी दबाते है, तो सिग्नल कीबोर्ड interrupt handler को भेजा जाता है, जो सीपीयू को बताता है कि यह क्या है और इसे ऑपरेटिंग सिस्टम पर भेजता है.

Device driver software का एक और टुकड़ा है जो मूल हार्डवेयर घटकों जैसे keyboard, mouse, hard drive और floppy drive की पहचान करता है. चूंकि BIOS लगातार हार्डवेयर से संकेतों को Blocked करता है, यह आम तौर पर Ram पर चलाया जाता है या कॉपी किया जाता है.

BIOS कैसे access किया जाता है

BIOS में change करना और BIOS तक पहुंचना आसान है. BIOS में लोंगो द्वारा किए जानेवाले सबसे आप change boot आर्डर बदल सकते है. जब कंप्यूटर बूट हो जाता है, तो BIOS दर्ज करने के लिए अपने कीबोर्ड पर DEL कुंजी दबाएं, वहां से, आप Different titles के तहत समूह में अलग-अलग विकल्प देख सकते हैं (F2, F10 आदि.)

अगर आपको navigate करने के लिए tab और arrow का उपयोग कर सकते है. कभी-कभी Page Up और Page Down की कुंजी आवश्यक वस्तुओं के मानों को बदलने की आवश्यकता होती है. जब आप अपने BIOS में जरुरी चीजे change करने के बाद, BIOS से बहार निकलने के लिए F10 key प्रेस करने से BIOS से बहार और change किए setting save हो जायेगा.

Options स्क्रीन के दाएं या निचले भाग पर display होते हैं ताकि आप जान सकें कि changes को सहेजने या हटाने के लिए कौन सी कुंजी है वो कुंजी दबाए. Options यह भी Specified करते है की मूल्य बदलने के लिए किस कुंजी का उपयोग करना है. और साथ में भी ये सलाह दी जाती है अगर आप BIOS से अपरिच है तो उसे छेड़छाड़ न करे वर्ना hardware पर बुरी effect हो सकती है.

BIOS सभी motherboard में उपलब्ध होता है

BIOS सभी company के motherboard में available होता है. PC systems पर BIOS access और configuration किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम से स्वतंत्र है क्योंकि BIOS मदरबोर्ड हार्डवेयर का हिस्सा है.

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि Windows 10, Windows 8, Windows 7, Windows Vista, Windows XP, Linux, Unix या या कोई ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं चला रहा है और कोई निर्भर नहीं है यह.

BIOS का उपयोग कहा किया जाता है

BIOS में कई हार्डवेयर कॉन्फ़िगरेशन विकल्प शामिल हैं जिन्हें सेटअप उपयोगिता द्वारा बदला जा सकता है, इन changes को सहेजना और computer को Resumption करना BIOS में change लागू करता है और जिस तरह से BIOS hardware को कार्य करने केलिए instructs देता है.

जरूर जानते होंगे की हम Windows install की लिए BIOS यूज़ करते है, but OS के लिए नहीं उसके अलवा भी कार्यो को change करने के लिए BIOS उपयोग किया जाता है. आप निचे देख सकते है जो BIOS system ऐसा कुछ सामान्य चीजें है उसे बदल सकते है.
  • Load BIOS Setup को Default करने किए
  • Remove BIOS Password and Enter the Password के लिए
  • Boot order change करने के लिए
  • Data and time change करने के लिए
  • Ram, Hard disk, graphic card install है या नहीं देखने के लिए
  • Boot Up Numlock status को change करने लिए
  • Computer Logo को Enable और Disable करने के लिए
  • Floppy Drive, Hard drive, CD/DVD/BD drive settings करने के लिए
  • USB, Raid, Audio Serial/Parallel Ports को Enable और Disable करने के लिए
  • CPU and System Temperatures के लिए
  • Fan speeds को control और कितने RPM पर चल रहा है
  • BIOS को Update करने के लिए
आप BIOS से परिचित हो गए है और ये लेख को पसंद करते है तो Facebook, Twitter और Google+ पर Follow और Like करना न भूले, अगर आपको BIOS से सम्बंधित कोई सवाल है तो हमे Comments box में पूछे.



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad